उत्तरकाशी : गंगोत्री थ्री आरोहण को गया दल लौटा

उत्तरकाशी : गंगोत्री थ्री आरोहण को गया दल लौटा

  • मुकुल नौटियाल / उत्तरकाशी

उत्तराखंड की सर्वोच्च चोटियों में सुमार गंगोत्री थ्री 6577 मी़ का आरोहण को गया पांच सदस्य दल खराब मौसम के कारण लगभग 200 मीटर से पहले ही लौट आया है। बर्फ के बड़े-बड़े क्रेवास तथा मौसम के खराब होने के कारण दल को  अपना अभियान 6300 मीटर की ऊंचाई पर समाप्त करना पड़ा।


रियल एडवेंचर्स गंगोत्री के दीपक राणा बताते हैं,कि 5 जून को उनके साथ दो दिल्ली एक मुंबई तथा एक बंगलुरू का कुल मिलाकर पांच सदस्य गंगोत्री थ्री आरोहण के लिए निकले। राणा बताते हैं,कि पहले दिन का पड़ाव नाला जो गंगोत्री से 8किमी से आगे तथा समुद्र तल से 3755 मीटर की ऊंचाई पर है। इस जगह बेस कैंप लगाया गया।

जबकि अगले दिन वहां से रूद्रगैरा होते हुए गंगोत्री थ्री के लिए निकले। उत्तराखंड के सर्वोच्च चोटियों में विख्यात गंगोत्री थ्री समुद्र तल से 6577 मीटर की ऊंचाई पर है। इसका आरोहण करते हुए इस पांच सदस्य दल को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। राणा बताते हैं,कि गंगोत्री थ्री की चढ़ाई करते हुए मौसम तथा बर्फ के बने क्रेवास का सामना भी करना पड़ रहा थ।

लेकिन इसके बाद भी 6300 मीटर की ऊंचाई पर चढ़ने के बाद आगे चढ़ाई के लिए मौसम का साथ नहीं मिला। इस ऊंचाई से आगे गंगोत्री थ्री की कुल दूरी मात्र 200 मीटर लगभग रह जाती है। लेकिन बडे-बड़े क्रेवास जो कि 10 मीटर चौड़े तथा 15 से 20 मीटर लंबे दरारों के थे। जिन्हें पार करना संभव नहीं था। वहीं मौसम के खराब होने के करण बर्फ के तूफान का खतरा भी बन गया। जिस कारण उन्हें अपना अभियान 6300 मीटर की ऊंचाई पर ही समाप्त करना पड़ा। राणा बताते हैं,कि उनसे पहले दो दल भी इस चोटों तक पहुंचे को निकले,लेकिन वे इतनी दूरी भी तय नहीं कर सके।

  • GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

केदारनाथ : प्रधानमंत्री पहुँचे धाम, 5 प्रोजेक्ट की रखेगें आधारशिला

 मधुसूदन जोशी / रुद्रप्रयाग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज