उत्तरकाशी : पीने पिलाने का पतझड़ मौसम गया   ॠतु राज बसंत  की  बहार आने से 

उत्तरकाशी : पीने पिलाने का पतझड़ मौसम गया   ॠतु राज बसंत  की  बहार आने से 

                                 –नीरज उत्तराखंडी 
पुरोला उत्तरकाशी ।थाना पुरोला में  नव नियुक्त थानाध्यक्ष ऋतुराज रावत  के आने से सब कुछ बदला बदला  सा लग रहा है।होटलों में शराब पीने और पिलाने पर पाबन्दी लगने से होटलों में  मदिरा  की महक और शराबियों की चहक गायब  होने से शान्ति और सुकून का महौल है ।शाम ढलते ही बाइक की कान फोडू आवाज तथा मनचलों द्वारा हल्ला और सीटियों के बजने की आवाज   भी कहीं  गुम होने से राहगीरों ने राहत की सांस  ली है। होटलों  से शराबियों का शोर गायब  है और चूल्हे से मीट फ्राई की गंध भी गुम।
बाजार में  शराबियों के हुडदंग तथा तीव्र गति से वाहन चलाने वाले मनचलों तथा लकडी के  खोखो तथा दुकानों  पर चरस तथा समैक बेचकर युवा पीढ़ी को बर्बाद कर अपना आर्थिक स्वार्थ साधने वालों  के आजकल  बुरे दिन चल रहे हैं और चर्चा तो यह भी चल रही है कि यदि यूं ही दीर्घ काल तक चलता रहा तो कई होटलों तथा दुकानों और खोखों पर ताले लटक सकते हैं ।और  धन कमाने के लिए गलत रास्ता चुन कर रातों रात मालोमाल बनने का सपना संजोने  वालों  के खाने के  भी लाले  पड सकते है।
वही दूसरी ओर होटलों में  शराब पीने वाले शराबियों के  साथ  पैग का आनंद लेने तथा कम्बल ओढ कर उगाही करने वाले चर्चित कथित कुछ सिपाहियों तथा चरस,स्मैक  बेचने वाले तस्करों और होटलों में  मदिरा पान कराने वाले होटल व्यवसायी भी  सदमें में हैं।
बताया जा रहा है कि नवनियुक्त थानेदार ने ऐसे संदिग्ध लोगों  को थाने बुलाकर उनकी  जमकर क्लास लगाई और चेतावनी देकर छोड़ दिया  ।आजकल युवा  तुर्क तेजतर्रार  थानाध्यक्ष ॠतु राज रावत के कार्य की क्षेत्र में खूब चर्चा हो रही है।उनके द्वारा  नशे के विरुद्ध उठाये गये कदम तथा कार्य प्रणाली की  तारिफ  हो रही है।वही कुछ अनुभवी लोग  इसे अल्प काल के लिए  उठाया जा रहा कदम कह रहे हैं ।
 वही दूसरी ओर  नशाखोरी के  विरोध में आंदोलनरत मातृ शक्ति ने राहत की सांस ली  है।और नवनियुक्त थानाध्यक्ष का आभार व्यक्त किया है ।
 रेखा नौटियाल जोशी, नारायणी चौहान, सुशीला शर्मा, विमला चौहान सुचिता चौहान, बबिता पंवार, सीता गुनसोला,मीमू चमियाल,सुषमा पंवार, उपेन्द्री असवाल,मीना भद्री,विमला पंवार, राजपाल पंवार, गजेन्द्र चौहान ने थानाध्यक्ष ॠतु राज रावत के कार्य  की भूरी भूरी प्रशंसा की है।विशेष कर नशे को लेकर  मुखर मातृ शक्ति तथा सामाजिक कार्यकर्ता ने।
नये बोस के आने पर  थाने में  आजकल कोई भी कैरम खेलता नजर  नहीं आता है सभी सिपाही अपनी  ड्यूटी  पर मुस्तैद नजर आते हैं । नव नियुक्त थानाध्यक्ष ऋतुराज रावत को आजकल  सायं सादी  वेशभूषा में  पैदल भ्रमण करते हुए भी बाजार में  व्यवस्था का जायजा लेते हुए तथा संदिग्ध होटलों और दुकानों में औचक निरीक्षण करते  देखा जा सकता है ।
 बहरहाल लगता है अब पीने पिलाने का तथा अवैध   उगाही करने  का  पतझड़ मौसम गया और अमन चैन का मौसम   ऋतुराज आ गया है।
  • Ground0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

Just Just What Ukrainian Ladies Like in Guys Significantly More Than Whatever Else

Just Just What Ukrainian Ladies Like in Guys