प्रयाग : खुबसूरत दुनिया को किसी और की आंखों से देखने का वरदान है नेत्र कुंभ-लालजी टंडन

प्रयाग : खुबसूरत दुनिया को किसी और की आंखों से देखने का वरदान है नेत्र कुंभ-लालजी टंडन

जगमोहन आज़ाद
प्रयागराज कुंभ में चल रहे नेत्र कुंभ में पहुंचे बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा कि आज कुंभ की इस धरती पर आकर सच में लगा कि यहां असंख्य लोगों स्नान ही नहीं कर रहे बल्कि यहां असंख्य लोगों को आंखों की रोशनी भी मिल रही है। सही अर्थों में कहूं तो खुबसूरत दुनिया को किसी और की आंखों से देखना सच में किसी वरदान से कम नहीं हैं,और यह शुभ कार्य कर रहे है समाजसेवी माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी। इस शुभ कार्य के लिए मैं माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी को बधाई देता हूं। जो इतना महत्वपूर्ण कार्य कर रहे है।
इस मौके खुबसूरत दुनिया को किसी और की आंखों से देखने का वरदान है नेत्र कुंभ-लालजी टंडन
प्रयागराज कुंभ में चल रहे नेत्र कुंभ में पहुंचे बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा कि आज कुंभ की इस धरती पर आकर सच में लगा कि यहां असंख्य लोगों स्नान ही नहीं कर रहे बल्कि यहां असंख्य लोगों को आंखों की रोशनी भी मिल रही है। सही अर्थों में कहूं तो खुबसूरत दुनिया को किसी और की आंखों से देखना सच में किसी वरदान से कम नहीं हैं,और यह शुभ कार्य कर रहे है समाजसेवी माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी। इस शुभ कार्य के लिए मैं माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी को बधाई देता हूं। जो इतना महत्वपूर्ण कार्य कर रहे है।
इस मौके राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने कहा कि अभी तक देश में जितने भी कुंभों का आयोजन हुआ । उन सभी आयोजनों में पहली बार नेत्र कुंभ के रूप में इतना बड़ा आयोजन किया गया है। इतने बड़े स्तर पर आज तक नेत्र सेवा के लिए कोई कार्य नहीं हुआ। रोज चार हजार से भी ज्यादा आंखों के मरीजों की आंखों की जांच हो रही है। इतने लोगों को चश्मे दिए जा रहे हैं। माता मंगला जी एवं भोले जी महाराज जी ने जो कार्य नेत्र कुंभ के माध्यम से कर दिया है। वह सही अर्थों में श्रेष्ठ कार्य है।  डॉ. कृष्ण ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाना चाहूंगा की आने वाले हरिद्वार कुंभ में इस तरह का आयोजन दो स्थानों पर और बड़े क्षेत्र में करेंगे…जिससे अधिक से अधिक लोगों को इसका फयाद मिल सकें।
प्रयागराज में चले रहे नेत्र कुंभ में पहुंचे माताश्री मंगला जी एवं श्रीभोले जी महाराज ने नेत्र कुंभ में चल रही सेवाओं का जायजा लिया। इस मौके पर माताश्री मंगला जी कहा कि विश्व में नेत्र दान करने के लिए आज तमाम योजनाएं चलाई जा रही है। यह बहुत ही सराहनीय है किसी की आंखों से कभी न देखने वाला व्यक्ति इस खूबसूरत दुनिया को देख पाता है।
इस बार प्रयागराज कुंभ में हम इसी सोच के साथ नेत्र कुंभ के माध्यम से आए हैं। इस नेत्र कुंभ में न सिर्फ श्रद्धालुओं की आंखों की जांच की जा रही है , बल्कि जिन श्रद्धालुओं की आंख कमजोर है उन्हें निशुल्क चश्मे भी प्रदान किए जा रहे है।
माताश्री मंगला जी कहा कि नेत्र कुंभ में श्रद्धालुओं की आंखों की निशुल्क जांच के लिए देश के अलग अलग राज्यों से जाने माने नेत्र विशेषज्ञ यहां आए। इसी के साथ हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल सतपुली के तत्वावधान में कुंभ मेला क्षेत्र में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच के लिए सचल चिकित्सा एम्बुलेंस भी मौजूद है। जो कुंभ में आए श्रद्धालुओं की स्वास्थ्य जांच में अहम भूमिका निभा रही हैं। इसके लिए हम यहा निस्वार्थ भाव से सेवा दे डाक्टरों एवं सेवकों का आभार प्रकट करते हैं।
इस मौके पर ब्रह्म देव भाई जी, आचार्य वासुदेवानंद ने भी अपने विचार व्यक्त किए।
जगमोहन आज़ाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

Purchase research paper on the web: just benefits

Purchase research paper on the web: just benefits