मसूरी पहुचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत

मसूरी पहुचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत

- in राजनीति
133
0

रिपोर्टर सुनील सोनकर 11.6.2018

मसूरी मे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत अपने नीजी दौरे पर मसूरी पहुचे जहा पत्रकारो से वार्ता करते हुए उन्होने केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश की जनता से चार साल पहले किये गए वायदों में से एक भी वायदा आज तक पूरा नही किया गया है। ना आज तक कोई योजना धारतल पर दिखाई दे रही है। वही उन्होने कहा कि प्रदेश में उनके समय पर भाजपा कहती थी की हरदा टैक्स वसूला जा रहा था परन्तु आज प्रदेश में खनन और शराब नरेन्द्र भाई दामोदर भाई और त्रिवेन्द्र भाई टैक्स वसूला जा रहा है। प्रदेश में खनन और शराब माफिया सक्रिय है जो बजरी उनके कार्यकाल में 52 रूपये किव्टल बिक रही थी व आज 120 से 150 रुपए क्विंटल हो में बिक रही है वही शराब भी कई गुना जायदा दामो में बिक रही है।
हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश की त्रिवेन्द्र रावत की सरकार भ्रष्टाचार पर जीरो टालरेंस की बात करती है जबकि ट्रांसफर नीती में उन विभागो को ही बाहर कर दिया जिनमें सबसे जयादा भ्रष्टाचार है। उन्होने कहा कि सरकार की कथनी और करनी में काफर अंतर है वही राज्य सरकार द्वारा नगर निकाय के चुनाव ना कराये जाने पर उन्होने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सविधान संशोधन 73, 74 के प्रभाव को समाप्त करना चहाती है जिस कारण वह षड्यंत्र के तहत कोर्ट में नगर निकाय चुनाव को लेकर सही तरीके से अपना प़क्ष नही रख पा रही है।
हरीश रावत ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट रिस्पन्ना और कोसी नदी के पुनः जीवित करने की योजना पर सवाल उठाते हुए कहा की राज्य सरकार द्वारा दोनो नदी को पुनः जीवित करने की बात तो की जा रही है परन्तु नदी के दोनो ओर अतिक्रमण करवाया जा रहा है। वही रिस्पना नदी के उदगम क्षेत्र और नदी के आसपास के नालो पर लगातार पक्के अतिक्रमण हो चुके है जो पूणतः अवैध है वही उन्होने कहा कि अगर सरकार को पुनः जीवित का कार्य करना है तो रिवर फ्रंट डेवलपमंेट के तहत करे जिससे एक योजनावद्व तरीके से काम किया जा सके।
Team ground 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योग कार्यक्रम

उत्तरकाशी । अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर राजकीय इंटर