मसूरी : यात्रियों में हाहाकार आखिर कब निर्णय लेगी सरकार?

मसूरी : यात्रियों में हाहाकार आखिर कब निर्णय लेगी सरकार?

 
रिपोर्टर सुनील सोनकर    14.6.2018
 
मसूरी में टैक्सी आनर्स एसोसिएशन द्वारा पूरे उत्तराखण्ड में टैक्सी एसोसिएशन द्वारा वाहनों पर गति नियंत्रक यंत्र लगाने के विरोध में आज से बेमियादी हड़ताल पर चले गए वही टैक्सी एसोसिएशन के सदस्यों ने सरकार के खिलाफ नारे बाजी कर जल्द टैक्सी को लेकर किये गए निर्णय को वापस लेने की मांग की है। जिस कारण मसूरी आ रखे देश विदेश के पर्यटक काफी परेषान हो गए वही कई प्र्यटको की टैक्सी एसेसिएषन की हंडताल के बाद ट्रेन और फलाईट छूट गई जिस कारण सरकार के खिलाफ खासा आक्रोश व्याप्त है। वही मसूरी टैक्सी आनर्स एसोसिएशन के सदस्यों ने एसोसिएशन के अध्यक्ष हुकुम सिंह रावत के नेतृत्व में केन्द्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाजी की और उनसे वाहनों पर गति नियंत्रक यंत्र को कार से हटाने की मांग की। वही टैकसीयो के हंडताल से चारधाम यात्रा पर आने जाने वाले यात्रियों को भी खासी पेरषानियो का सामना करना पड रहा है। टैक्सीयों की हडताल के कारण रोडवेज की बसो में भी ओवलोड हो रही है। चारधाम यात्रा सीजन के कारण मसूरी में आने जाने की बसे की संख्या में भी भारी कमी है जिस कारण बसो में यात्रियो को क्षमता से अधिक ले जाया जा रहा है।
एसोसिएशन के अध्यक्ष हुकुम सिंह रावत और सचिव सुंदर सिंर पंवार ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा टैक्सी में गति नियंत्रक यंत्र लगाना अनिवार्य कर दिया है जिससे टैक्सी मालिको को खासी परेशानी हो रही है वही गति नियंत्रक यंत्र लगाने के बाद टैक्सी पहाडी क्षेत्रो में चल ही नही पा रही है वह पहाड में वाहन 40 से लेकर 50 किलो मीटर प्रति घंटे से उपर चलती ही नही है । उन्होने सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि एक ओर सरकार व्यवसायिक वहानो में गति नियंत्रक यंत्र लगाने की बात कर रही है वही प्राईवेट वहानो को इससे छूट दी गई है जबकि सबसे अधिक दुर्घटनाये प्राईवेट वहानो के ओवर स्पीड के कारण होती है। उन्होने कहा कि अगर सरकार द्वारा जल्द वाहनों पर गति नियंत्रक यंत्र हटाने का निर्णय नही लेती है तो व अनिश्चित कालीन हडताल पर रहेगे। उन्होने कहा कि अगर केन्द्र और प्रदेश सरकार को जन विरोधी फैसले लेने पर अगामी चुनाव में सबक सिखाने का काम किया जायेगा।
TEAM GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बेफिक्री से कुछ भी फॉरवर्ड करने से पहले पढ़ लेे ये खबर

  • रिपोर्ट विजय खंडूड़ी  विगत दिनो सोशल