2021 हरिद्वार में होगा सुन्दर, भव्य एवं सुविधायुक्त कुम्भ

2021 हरिद्वार में होगा सुन्दर, भव्य एवं सुविधायुक्त कुम्भ

  • हरिद्वार
प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने निरंजनी अखाड़े में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए संतों का अशीर्वाद लिया एवं पूजा-अर्चना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि संतुलित एवं पारदर्शी विकास  के साथ ही दूरस्थ एवं पिछड़े क्षेत्रों का विकास राज्य सरकार की शीर्ष प्राथमिकता रहेगी।
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार हटयोग की साधना करेगी। सम्पूर्ण उत्तराखण्ड को भ्रष्टाचार मुक्त करना राज्य सरकार का प्रमुख उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि 2021 में होने वाले कुम्भ की तैयारियों को लेकर साधु समाज एवं अखाड़ा परिषद के मार्गदर्शन से नई योजनाएं बनाई जायेंगी। श्री रावत ने कहा कि 2021 में हरिद्वार में सुन्दर, भव्य एवं सुविधायुक्त कुम्भ का आयोजन किया जायेगा।
हरिद्वार में जिन आश्रमों एवं धार्मिक स्थलों पर व्यावसायिक गतिविधियां नहीं होती हैं, उन आश्रमों एवं धार्मिक स्थलों को मुख्यमंत्री ने कर मुक्त करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन के तहत हरिद्वार की निर्मलता एवं स्वच्छता के लिए साधु समाज के योगदान के लिए शहरी विकास मंत्री को संतों से मिलकर समाधान करने को कहा। उन्होंने कहा कि स्वच्छता मिशन को पूर्ण रूप से सफल बनाने के लिए सबका योगदान आवश्यक है।
हरिद्वार सांसद डाॅ रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कहा कि केन्द्र सरकार की नमामि गंगे, चारधाम योजना से उत्तराखण्ड में पर्यटन को बढ़ावा मिल रहा है। तीर्थ यात्रि एवं पर्यटक देवभूमि उत्तराखण्ड एवं अध्यात्म की राजधानी हरिद्वार में  पूर्ण सुरक्षा के साथ यात्रा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्टेंड अप एवं स्टार्ट अप योजनाओं से देश ने विश्व में महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त किया है। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि राज्य सरकार धर्म सत्ता के आशीर्वाद से निरन्तर आगे बढ़ रही है। प्रदेश के सम्पूर्ण विकास एवं भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखण्ड बनाने के लिए राज्य सरकार कृत संकल्प है।
इस अवसर पर महन्त नरेन्द्र गिरी महाराज, महन्त प्रेम गिरी, महन्त रघुमुनी, महन्त रविन्द्र पुरी, महन्त प्रेम गिरी, महन्त रघुवीर दास, महन्त सुखदेव मुनी, महन्त मोहनदास, महन्त कमलदास, मेयर मनोज गर्ग, विधायक सुरेश राठौर, भाजपा के जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह, जिलाधिकारी एस.ए. मुरूगेशन, एस.एस.पी. कृष्ण कुमार वी.के  एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।
  • GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बागेश्वर : अंतिम संस्कार से घर लौट यात्रियों से भरी कार दुर्घटनाग्रस्त, शिक्षक की मौत, 4 घायल

बागेश्वर अंतिम संस्कार से लौट रही एक आल्टो