इंसान ही नहीं,बेजुबानों का भी आपदा में रखा जाएगा ध्यान

इंसान ही नहीं,बेजुबानों का भी आपदा में रखा जाएगा ध्यान

- in अन्य
169
0

 अनुमति के मुख्यालय नही छोड़े चिकित्सक.

अपर निदेशक पशुपालन ने किया मुख्य पशुचिकित्सा कार्यालय का निरीक्षण.

विभागीय अधिकारियों की ली बैठक.

अभिलेखों को दुरुस्त रखने के दिये निर्देश.

• दीपक पाठक, बागेश्वर

बागेश्वर। पशुपालन विभाग के अपर निदेशक डॉ पी सी कांडपाल ने मुख्य पशुचिकित्सा कार्यालय का औचक भ्रमण कर कार्यालय अभिलेखों का निरीक्षण किया। उन्होंने कर्मचारियों को अभिलेखों सही तरह से रखने के निर्देश दिए उन्होंने पेंशन, जीपीएफ के मामलों को तत्काल निस्तारित करने को कहा। बाद में चिकित्साधिकारियों व कर्मचारियों की बैठक ली।


अपर निदेशक बनने के बाद पहली बार बागेश्वर पहुचने पर डॉ कांडपाल का विभागीय अधिकारियों ने स्वागत किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा की आपदा काल में सभी अधिकारी व कर्मचारी किसी भी हाल में मुख्यालय ना छोड़े। क्योंकि पशुपालन विभाग की आपदा के समय सबसे पहले जरूरत होती है।क्योंकि आपदा के दौरान जानवर ही सबसे ज्यादा प्रभावित होते है। इसलिए सूचना मिलते ही पशुचिकित्सकों को मौके पर पहुचना होगा। उन्होंने विभागीय बजट पर चर्चा करते हुए योजनाओं को ग्रास रूट तक पहुचाने को कहा। उन्होंने कहा कि सभी पशुचिकित्सको को निर्देशित किया कि कृत्रिम गर्भाधान की सूचना की हर हाल में ऑनलाइन करने को निर्देशित किया। कहा कि इसमें लापरवाही मिलने पर संबंधित चिकित्सक व कर्मचारी का वेतन आहरित नही किया जायेगा।

इस दौरान मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी डॉ उदय शंकर ने जनपद के कर्मचारियों की स्थिति एवं आपदा से निपटने के लिए किये जा रहे कार्यो की जानकारी से अपर निदेशक को अवगत कराया। इस अवसर पर डॉ पी.के. पाठक, डॉ हिमांशु पाठक, डॉ ज्योति पूना, डॉ मृगेश चौधरी, डॉ विजय कुमार ,डॉ पूजा जोशी,विभागीय कर्मचारी मौजूद थे।

• TEAM GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़कोट से पांच ने कराया अध्यक्ष के लिए नामांकन

● सुनील थपलियाल बड़कोट। स्थानीय नगर निकाय चुनाव