चारधाम यात्रा : वाह रे पुलिस : तेरी छत्र-छाया में चल रही है वसूली और तुझे भनक तक नहीं !

चारधाम यात्रा : वाह रे पुलिस : तेरी छत्र-छाया में चल रही है वसूली और तुझे भनक तक नहीं !

थाने में एस.डी.एम्. बसूली करने वाले को लताड़ लगाते हुए

सुनील थपलियाल / उत्तरकाशी ।

पुलिस का नया कारनामा , पुलिस अधीक्षक के पत्र की आड़ में आधा दर्जन लोग वाहनों के नम्बर प्लेट पर अतिरिक्त इंचिग किये जाने और रेडियम ( रिफलैक्टर ) लगाने पर उगाई कर रहे है , मजे की बात ,जो पत्र एसपी साहब का दिखाया गया उसमें न तो किसी कम्पनी का नाम है और न ही किसी विभाग का नाम और तो और न कोई पत्रांक लिखा है । इधर मामले की गम्भीरता को देखते हुए उपजिलाधिकारी बड़कोट ने उक्त लोगों को थाने लाकर जमकर लताड़ लगाई और सभी वाहन चालकों के पैसे वापस देते हुए उक्त कार्य को बन्द करने के निर्देश दिये। साथ ही जिलाधिकारी को पत्र लिखकर यात्रा में बाधा पहुचाने और जबरन टैक्सी चालको को परेशान किये जाना पाया गया ।

बिना पत्रांक का एस.पी. साहब का आदेश

मालुम हो कि पुलिस अधीक्षक उत्तरकाशी ने गाजियाबाद के कुछ लोगो को एक आदेश जारी कर दिया जिसमे वाहन चोरी की घट्नाओ पर अंकुश लगाने के लिए दो और चार पहिये के वाहनों पर आगे और पीछे पर नंबर इन्चिंग करने और और कुछ वाहन चालको द्वारा गाडियों को  रोड व् पार्किंग में  खड़े कर देने पर रिफ्लेक्टर नहीं दिखाई देते जिससे दुर्घटना होने का अंदेश बना रहता है इसलिए आगे पीछे रिफ्लेक्टर लगाना आवश्यक है  , आदेश मिलने बाद तो यात्रा मार्गो पर पुलिस की आड़ में  गाजियाबाद के कुछ युवक बड़कोट के पास दोबाटा में तीर्थयात्रियों के वाहन और स्थानीय टैक्सी चालकों से अतिरिक्त इंचिग और रेडियम रफिलैक्टर के नाम पर जमकर अवैध वसूली करने लगे अगर कोई चालक मना करते है तो उक्त युवक पुलिस अधीक्षक उत्तरकाशी का पत्र दिखा देते है जिससे वाहन चालक को मजबूरन 100 रू. देना पड़ा रहा है ।

एक टेक्सी से तीन बार बसूला गया रिफ्लेक्टर के नाम धनराशी

खुलासा तब हुआ जब यमुनोत्री रूट पर गग्नानी में एक सिपाही की मदद से यात्रा वाहनों को रोककर उक्त  रसीद  काटी जा रही थी और दूसरा वाहन चालक संख्या यूके 07 टीए 2282 से पहले उत्तरकाशी और दो बार दोबाटा में रिफलैक्टर रेडियम के नाम 100-100 रूपये वसूल कर दिये ,  मजे की बात जिस वाहन पर पहले से दो बार रेडियम चिपके हो उस पर तीन बार भी रेडियम चिपकाये जाने को लेकर टैक्सी युनियन के चालक भड़क गये ,उन्होने उपजिलाधिकारी को दोबाटा मौके पर बुलाया जिस पर इस बात का खुलासा हुआ कि एक चालक से दो से तीन बार 100 रू वसूले  जा रहे है। जबकि पुलिस अधीक्षक के पत्र पर 50 रू रेडियम के और 50 रू नम्बर प्लेट या सीसे पर इंचिग के नाम पर लिये जाने थे परन्तु उक्त युवको द्वारा इंचिग की नही गयी परन्तु रेडियम चिपकाने के नाम पर अवैध वसूली की गयी । यमुनोत्री टैक्सी यूनियन के अध्यक्ष भगत सिंह रावत , वाहन चालक राजेश राणा, रोजश रावत, दीपेन्द्र सिंह , धर्मेन्द्र सिंह ,रविन्द्र सिंह , मदन सहित दर्जनों चालकों ने  सिपाही की मदद से पुलिस की आड़ में अवैध बसुली किये जाने का आरोप लगाया ,उन्होने कहा एसपी साहब के पत्र पर कम्पनी का नाम और विभाग का नाम नही है। और जो 100 रू की रसीद दी जा रही है उसमें वाहन नंबर  नही लिखा जा रहा है एक वाहन चालक से तीन बार पैसे वसूले  गये जो गलत है।  उन्होने बताया कि परिवहन विभाग द्वारा फीटनीस के समय रेडियम रिफलैक्टर लगाये जाते है जिसकी ढाई सौ फीस ली जाती है। इधर उपजिलाधिकारी रोहित मीणा ने जबरन किये जा रहे इस कार्य के लिए पहले उक्त व्यक्तियों को थाने लाकर लताड़ लगाई और थानाध्यक्ष को इस कार्य को रोके जाने के निर्देश दिये । उन्होने इस मामले की उच्चाधिकारियों से वार्ता करने का वाहन चालको को भरोसा दिया। साथ ही प्रकरण में गड़बड़ झाला नजर आने की स्तिथि में  जिलाधिकारी के संज्ञान में मामला लाते  हुए  एस पी साहब के आदेश को वापस लिए जाने और यात्रा काल में बाधा पहुचने की बात की ।वही पुलिस अधीक्षक ददन पाल ने दूरभाष पर बताया की दुर्घटना को देखते हुए रेडियम लगवाने के लिए कहा गया था पर जबरन लगाने को नहीं और तय रेट लेने को कहा गया था अगर किसी चालक से दो या तीन बार पैसे लिए गए होंगे तो शिकायत मिलने पर संबधित के खिलाप मुकदमा दर्ज किया जायेगा ।

  • Ground0 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : राष्ट्रीय लोक अदालत में 77 मामलों का निस्तारण

बड़कोट। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में