उत्तरकाशी : यात्रा में ओवर रेटिंग पर होंगे लाईसेंस निरस्त :DM

उत्तरकाशी : यात्रा में ओवर रेटिंग पर होंगे लाईसेंस निरस्त :DM

  • आशीष मिश्रा / उत्तरकाशी
जिलाधिकारी डा. आषीश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि चारधाम यात्रा के दौरान ओवर रेटिंग आदि गतिविधियों के लिए नोडल अधिकारी के साथ-साथ फ्लाईंग टीम भी तैनात की गई है, यात्रा रूटों में चेकिंग अभियान चलायेंगे। जिलाधिकारी यह बात जिला सभागार में आयोजित प्रेसवार्ता में कही।
उन्होंने कहा कि ओवर रेटिंग पर लाईसेंस निरस्त किया जायेगा। उन्होंने कहा कि हर्शिल, मुखवा, धराली को इनर ऐरिया से मुक्त करने की पहल की जा रही है। ऐडवेन्चर टूरिस्ट एवं पर्यटकों के लिए क्यूआर कोडेट सीट जनरेट होगें।
दो-तीन दिन के भीतर मोबाईल ऐप दिया जायेगा जिससे यात्रियों की वस्तुस्थिति की जानकारी उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि नीति आयोग ने जनपद में पर्यटकों के लिए लान्च की गई सिंगल विन्डो सिस्टम ‘‘पथिक को सराहनीय पहल बताया है। उन्होंने कहा कि जनपद के ऐतिहासिक पर्यटक स्थलों को पर्यटकों के लिए विस्तृत लेख एवं फोटोग्राफ से संजोये गये कापी टेबल बुक  मुख्यमंत्री ने विमोचन किया है इस पुस्तक को बड़े-बड़े होटलों, एयर पोर्ट आदि स्थानों पर निःषुल्क दिये जायेंगे, जिसे पढ़कर जनपद मंे पर्यटकों को बढ़ावा मिलेगा। कहा कि धामों में पार्किंग की समस्या नही हो इसके लिए वाहनों को व्यवस्थित एवं पार्किंग को नियंत्रित रूप से संचालित किया जायेगा जिस हेतु सीसीटीवी कैमरे भी लगाये
जायेंगे।
जिलाधिकारी कहा कि 28 अप्रैल को उत्तरकाषी में तीर्थ यात्रियों का लोक संस्कृति के साथ भव्य स्वागत किया जायेगा। जिओ ग्रीड दीवार में पंटिग के सामनें फुलवारी एवं लाईट लगायें जायेंगे जिससे रात्री को मनमोहक दृष्य की झलक देखने को मिलेगी।
उन्होंने कहा कि यमुनोत्री पैदल ट्रैक पर इस बार 2 एफएमआर टीम बढ़ाये गये हैं जो बढ़कर 5 टीम हो गये है। प्रत्येक एक किमी में एक एफएमआर टीम तैनात रहेगी। जानकीचट्टी राम मंदिर के पास 50 वर्श से अधिक आयु वाले श्रद्वालुओं के लिए स्वास्थ्य परीक्षण षिविर लगाये जायेंगे। षिविर में डाक्टरों द्वारा श्रद्वालुओं का पैदल यात्रा का सुझाव भी दिया जायेगा।
उन्होंने कहा कि चिन्यालीसौड़ से गंगोत्री धाम तक कूड़ा अवषिश्ठ प्रबंधन को लेकर 5 भागों में विभाजित किया गया है। प्रत्येक भाग पर एक डम्फर वाहन द्वारा होटलों एवं ढ़ाबों आदि से कूड़ा एकत्र कर चयनित स्थानों पर इकठ्ठा कर कम्पोज खाद बनायी जायेगी। उन्होंने कहा कि कूड़ा निस्तारण के लिए विषेशज्ञ बुलाये गये है जो कूड़े को कम्पोज खाद में बदलने की प्रक्रिया सिखायेंगे।
  • GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : डाक सेवक संघ की हड़ताल : थैलों में बंद पड़ी डाकें

उत्तरकाशी अखिल भारतीय ग्रामीण डाक सेवक संघ की