मसूरी के मजदूरो द्वारा श्रम विभाग का घेराव

मसूरी के मजदूरो द्वारा श्रम विभाग का घेराव

- in अन्य
167
0

• रिपोर्टर सुनील सोनकर 
अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस से जुड़े मजदूरों द्वारा अपनी विभिन्न मागांे को लेकर देहरादून श्रम विभाग का घेराव करने को लेकर सैकडों कार्यकर्ता मजदूर नेता आ.पी.बडोनी के नेतृत्व में देहरादून रवाना हुए। व उससे पहले मसूरी के चूनाखाले चैक पर सभी मजूदर एकत्रित हुए व राज्य और केन्द्र सरकार की मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ जमकर नारेबाजी की वह श्रम विभाग द्वारा मजदूर अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन के बैनर तले श्रम विभाग का घेराव करने के लिये देहरादून पहुच रहे है।

मजदूर नेता आरपी बडोनी ने कहा कि महंगाई लगातार बढ़ रही है लेकिन मजदूरों का न्यूनतम वेतन नहीं बढ़ाया जा रहा है। मजदूर नेताओं ने असंगठित श्रमिकों का न्यूनतम वेतन बीस हजार करने की मांग की। साथ ही श्रमिकों को भविष्य निधि और ईएसआई के दायरे में लाने और श्रम कानूनों में हो रही छेड़छाड़ को तत्काल करने की मांग की है. बडोनी ने कहा केंद्र की मोदी सरकार लगातार असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को ठग रही है. 2014 में घोषित होने वाली असंगठित क्षेत्र की न्यूनतम मजदूरी 2018 शुरु होने के बाजवूद घोषित नहीं की गई है।

मजदूर नेता पूरण नेगी ने कहा कि चुनाव से पहले गरीबों, मजदूरों को अच्छे दिन आएंगे कहकर छलने वाली बीजेपी के राज में मजदूरों की हालत और खराब हो गई है. महंगाई बढ़ती जा रही है और आमदनी घटती जा रही है. उन्होने कहा कि महंगाई को कम करने, मजदूरों को न्यूनतम वेतन 20 हजार मासिक और सभी मजदूरों को पेंशन सहित सभी लाभ, ठेका मजदूरों को रेगुलर मजदूरी, आंगनबाड़ी, मिड-डे-मील, मनरेगा के मेहनताने में बढ़ोतरी करने की मांगें पूरी तरह से जायज हैं। और अगर सरकार द्वारा मजदूर हितो को लेकर जल्द कोई कदम नही उठाया जाता तो इस परिणाम आने वाले नगर निकाय चुनाव के साथ लोकसभा चुनाव में देखने को मिलेगा।

• TEAM GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़कोट से पांच ने कराया अध्यक्ष के लिए नामांकन

● सुनील थपलियाल बड़कोट। स्थानीय नगर निकाय चुनाव