उत्तरकाशी : तीन गाँव के आवाजाही पर लग सकता है ग्रहण , पुल 60% हुआ क्षतिग्रस्त

उत्तरकाशी : तीन गाँव के आवाजाही पर लग सकता है ग्रहण , पुल 60% हुआ क्षतिग्रस्त

- in अन्य
280
0

सुनील थपलियाल
बड़कोट। लोक निर्माण विभाग की घोर लापरवाही के चलते तीन गांव के लिए यमुना नदी में बना पैदल पुल का 60 प्रतिशत हिस्सा बह जाने पर कभी भी आवाजाही पर विराम लग सकता है ।

ग्रामीणों द्वारा कई बार विभाग को लिखित एंव मौखिक सूचना देने के बाद भी विभाग गहरी नींद सोया हुआ है इतना ही नही विभाग किसी बड़े हादसे का इन्तजार कर रहा है।

सामाजिक चेतना की बुलन्द आवाज ‘‘जय हो ‘‘ ग्रुप से जुड़े सदस्यों ने लोनिवि को एक महा के भीतर राजस्तर में यमुना नदी पर क्षतिग्रस्त पैदल पुल का जीर्णोद्वार किये जाने की मांग की है और कार्य न होने पर ग्रामीणों के साथ उग्र आन्दोलन की चेतावनी दी है ।
मालूम हो दिल्ली यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के राजस्तर पालर को जोड़ने वाला यमुना नदी पर बना पैदल पुल लम्बे समय से क्षतिग्रस्त हो रखा है , 60 प्रतिशत से अधिक पैदल पुल का हिस्सा यमुना नदी के तेज बाहव में कट चुका है और अगर उक्त पैदल पुल का जीर्णोद्वार नही होता है तो ग्राम सभा पालर , डख्याटगांव और मस्सू की आवाजाही पर विराम लग जायेगा ।

इधर ग्रामीणों द्वारा कई बार विभाग के अधिकारियों को इसकी लिखत एंव मौखिक सूचना भी दी लेकिन विभाग गहरी नींद सोया हुआ है।

ग्राम प्रधान रमेश लाल, मनवीर सिंह राणा ,प्रकाश नौटियाल,कुलबन्त सिंह रावत, रविन्द्र सिंह राणा आदि कहते है कि तीन गांव को जोड़ने वाला यमुना नदी में बना पैदल पुल लम्बे समय से क्षतिग्रस्त हो रखा है ।

2013 में पुल का एक हिस्सा पुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था , लोनिवि विभाग द्वारा उसे सही भी किया गया परन्तु यमुना के तेज बाहव से पुल का लगभग 60 प्रतिशत से अधिक का हिस्सा कट चुका है और कभी भी पुल गिर व पूर्ण क्षतिग्रस्त हो जायेगा जिससे तीन गांव के ग्रामीणों की आवाजाही पर पूरी तरह विराम लग जायेगा।

इधर ‘‘जय हो‘‘ ग्रुप के सदस्य जय सिंह , मोहित , मदन पैन्यूली, सुनील थपलियाल, जय प्रकाश , द्वारीका प्रसाद, उत्तम रावत , कपिल , रणवीर सिंह , अमित सिंह , यशवन्त सिह आदि ने लोनिवि विभाग को पैदल पुल के जीर्णोद्वार की मांग की है और एक माह के भीतर कार्य आरम्भ न होने की स्थिति में उग्र आन्दोलन की चेतावनी दी है।

इधर लोनिवि अधिशासी अभियन्ता सुनील गर्ग ने दुरभाष पर बताया कि यमुना नदी के राजस्तर पालर पैदल पुल के क्षतिग्रस्त होने का आंगणन शासन को गया हुआ है और जल्द ही इसमें धनराशी स्वीकृत करवा ली जायेगी और जैसे ही शासन से स्वीकृती मिलेगी वैसे ही पैदल पुल का जीर्णोद्वार किया जायेगा।

● TEAM GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

Sample Business Paper on Using LinkedIn Effectively

Rather than using the web pages with its