परियोजना से प्रभावित गांवों का क्या होगा भविष्य ?

परियोजना से प्रभावित गांवों का क्या होगा भविष्य ?

- in अन्य
59
0

• नीरज उत्तराखंडी पुरोला

परियोजना पुनर्वास एवं पुनर्गठन समिति में लिए गये कई महत्वपूर्ण निर्णय.

एडीएम की अध्यक्षता आयोजित हुई समिति की बैठक.

नैटवाड़-मोरी जल विद्युत परियोजना से प्रभावित तीन गांव के पुनर्वास और पुनर्गठन के लिए रूप रेखा तैयार पर किया गया मंथन.

जनपद उत्तरकाशी के विकास खण्ड मोरी में निर्माणाधीन नैटवाड़-मोरी जल विद्युत परियोजना के अंतर्गत प्रभावित गांवो के पुनर्वास और पुनर्गठन के गठित समिति की बैठक बुलाई गई।

जिसमें प्रभावित गांवो में ढांचागत सुविधाओं के विकास तथा क्रियान्वयन की रूप रेखा पर विचार विमर्श किया गया।
बांध प्रभावित पुनर्वास एवं पुनर्गठन समिति की बैठक समिति के प्रशासक एडीएम हेमन्त वर्मा की अध्यक्षता आयोजित हुई। बैठक में नैटवाड़-मोरी जल विधुत परियोजना के निर्माण से प्रभावित होने वाले नैटवाड़,गैचाण गाँव,बेनोल गाँव में मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने की रूपरेखा तैयार करने के लिए समिति के सदस्यों के साथ विचार विमर्श किया गया।

ग्रामीणों को कैसे नागरिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाय ढांचा गत मूलभूत सुविधाओं का पुनर्गठन कैसे किया जाय तथा प्रभावित परिवारों के पुनर्वास और पुनर्गठन की विस्तृत रूपरेखा बनायें जाने पर विचार विमर्श किया ।

इस अवसर पर समिति के प्रशासक एडीएम हेमन्त वर्मा, एसडीएम पूरण सिंह राणा,सतलुज के उप महाप्रबंधक प्रवीन चन्द्र,प्रबन्धक अंशु शर्मा, सहायक प्रबंधक कमलेश भारद्वाज बीडीओ डी पी डिमरी सहित समिति के सभी सदस्यगण उपस्थित रहे।

• TEAM GROUND 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सरोट-चापड़ा मोटरमार्ग पर यातायात बहाल ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

  • विजय खंडूड़ी, टिहरी टिहरी जनपद के